उपयोगी सलाह

ध्यान रखने योग्य -

  • हाथ – पैर धोकर पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख करके मौनपूर्वक भोजन करें ।
  • गर्भिणी पलाश के एक ताजे कोमल पत्ते को पीसकर गाय के दूध के साथ रोज ले। इससे बालक शक्तिशाली और गोरा उत्पन्न होता है। माता-पिता भले काले वर्ण के हों लेकिन बालक गोरा होता है।
  • चतुर्मास के दिनों में ताँबे व काँसे के पात्रों का उपयोग न करके अन्य धातुओं के पात्रों का उपयोग करना चाहिए। 
  • दूध पीने के 2 घंटे पहले व बाद के अंतराल तक भोजन न करें। बुखार में दूध पीना साँप के जहर के समान है।
  • भय, शोक, चिंता व क्रोध को त्यागकर नित्य आनंद में रहे।
  • मेथीदाना हड्डियों व जोड़ों को मजबूत बनाता है । test

 

image description

loader